INS विक्रांत का उद्घाटन 2 सितंबर को एक ऐतिहासिक उपलब्धि के रूप में किया गया था |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने केरल के कोच्चि (Kochi) में एक भव्य समारोह में आईएनएस विक्रांत को भारतीय नौसेना शामिल किया.

भारतीय नौसेना को एक नया ध्वज मिला। आज से छत्रपति शिवाजी से प्रेरित, नौसेना का नया ध्वज समंदर और आसमान में लहराएगा।

IAC विक्रांत के चालू होने से भारत को पूर्वी और पश्चिमी दोनों तटों पर एक विमानवाहक पोत तैनात करने की अनुमति मिल जाएगी।

262 मीटर लंबा और 62 मीटर चौड़ा आईएनएस विक्रांत भारत में बनने वाला सबसे बड़ा युद्धपोत है।

इसमें 30 विमान हो सकते हैं, जिसमें मिग-29K लड़ाकू जेट और हेलीकॉप्टर शामिल हैं। युद्धपोत लगभग 1,600 के चालक दल को समायोजित कर सकता है।

ऐसे मजेदार वीडियो देखने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें