IMPS क्या है?, और इसकी पूरी जानकारी।

दिन पर दिन सरकार चीजों को आसान करने के लिए बहुत अच्छे- अच्छे कदम ले रही है। जैसे ज्यादातर काम digital यानी हमारे इस छोटे से फोन से घर बैठे- बैठे बहुत कुछ कर सकते है।

पहले हम लोग पैसों को चेक से भेजते थे। लेकिन अब RBI जो सारे बैंकों का बॉस है, वो लोग अब डिजिटल वर्क को promote करना चाहते है। और ऐसे बहुत सारे बैंकिंग के काम digitally होता भी है, जैसे- fund transfer, demand draft, password printing…

हम एक बैंक के खाते से दूसरे बैंक के खाते में पैसे को एकदम चुटकियों में भेज सकते है। EFT (Electronic funds transfer) यानी इलेक्ट्रॉनिक निधि अन्तरण, यह एक ऐसा तरीका है, जिसे आप यह काम आसानी से कर सकते है।

EFT के चार तरीके है:

1) NEFT 
2) RTGS 
3) IMPS 
4) UPI 

पहले NEFT और RTGS के द्वारा सिर्फ बैंकिंग hours में आप पैसों को ट्रांसफर कर सकते थे। लेकिन फिर अगस्त 2010 में NPCI ने बैंक के साथ मिलकर मोबाइल पेटीएम के सिस्टम पर पायलट स्टडी किया।

अंत में 22 नवंबर 2010 में IMPS को लांच किया गया।

See also  भारतीय संविधान

आई एम पी एस (IMPS) क्या है? 

IMPS यानी Immediate payment service, एक ऐसा सिस्टम जो लोगों को 24 * 7 इंटरबैंक इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर का सर्विस देता है।

IMPS की क्या टाइमिंग है?

IMPS एक ऐसा सर्विस हैं जो 24 घण्टे सातो दिन यानि पुरा 365 दिन यह ऐक्टिव रह्ता है। आप इसे कभी भी कही भी आसानी से इस्तेमाल कर सकते है।

IMPS को किस-किस channels से एक्सेस किया जा सकता है?

सरकार ने IMPS के सर्विस को लोगों की परेशानियों को दूर करने के लिए बनाया है।
Interbank electronic fund transfer सेवा को मोबाइल, एटीएम, इंटरनेट बैंकिंग, sms द्वारा एक्सैस किया जा सकता है।

IMPS के participants कौन-कौन होता है?

IMPS के सर्विस के दौरान इन लोगो का मेन रोल होता हैं।

● पैसे बेजने वाला यानि sender,
● पैसे को लेने वाला यानि receiver,
● NPCI – जो भारत में अलग-अलग खुदरा भुगतान प्रणालियों के लिए एक मातृ संस्था के रूप में कल्पित है।
● Banks 

IMPS के द्वारा कितना पैसा जाम कर सकते है?

IMPS के मधयम से कम से कम 1 रूपए और लगभग 2 लाख तक।

IMPS के क्या चार्जेस लगते हैं?

  • IMPS पैसे को एक खाते से दुसरे खाते मे भेजने के लिए charges लेता है।
  • यह charge हर अलग-अलग बैंक में अलग-अलग charge लगता है।
  • ज्यादातर बैंक में 10,000 रुपए में 2 रुपया 36 पैसा लगता है। 1 लाख के लिए 4 रुपया 72 पैसा लगता है।

Money या fund ट्रांसफर के लिए क्या डिटेल्स जरूरी है?

  1. Using Mobile number & MMID
  2. Using Account number & IFSC  Code 
See also  भारत में एक विधायक को कितनी सैलरी मिलती है? (2022)

MMID क्या है?

  • MMID का मतलब हुआ Mobile Money Identifier.
  • यह एक 7 digit का code होता हैं।
  • हर account number का एक यूनिक 7 digit का MMID कोड होता है, और यह MMID code दुसरे MMID code से मैच नहीं करता है।

IFSC Code क्या है?

  • IFSC Code का मतलब हुआ Indian Financial System Code.
  • यह एक 11 digit का code होता हैं।

IMPS के users के लिए महत्वपुर्ण जानकारी :

○ आपके पास आये हुए otp यानी one time password को किसी के साथ शेयर ना करे।
○ आप अपने डेबिट कार्ड के डिटेल्स को किसी के साथ शेयर न करे। जैसे- कार्ड नंबर, expiry डेट, और CVV नंबर।
○ आप अपने कोई भी sms को आगे फॉरवर्ड या किसी के साथ शेयर ना करे।
○ अपने नेट/मोबाइल बैंकिंग के डिटेल्स या पस्स्वोर्द को शेयर न करे।

ये कुछ बाते थे IMPS users के लिए जिन्हें आपको ध्यान में रखना चाहिए।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *